हमें स्‍वंतत्रता चाहिए : एक विश्‍लेषण

अवधि : 
00 hours 22 mins

भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 में लागू किया किया था। लेकिन संविधान सभा ने उसे 26 नवम्‍बर 1949 में स्‍वीकार किया था। संविधान देश के प्रत्‍येक नागरिक को बिना किसी भेदभाव के जीने के अधिकार देता है। संविधान स्‍त्री और पुरुष में कोई अन्‍तर नहीं करता।

लेकिन औपचारिक रूप से संविधान लागू होने के बाद 65 साल बाद भी क्‍या वह व्‍यवहारिक रूप से लागू हो पाया है।  इस वीडियो में हाईस्‍कूल की छात्राएँ लड़के और लड़की, स्‍त्री और पुरुष के बीच किए जा रहे सामाजिक विभेद पर एक नाटक के रूप में चर्चा कर रही हैं। देखें कि सूत्रधार या स्रोतव्‍यक्ति की इसमें क्‍या भूमिका है। यह वीडियो इस बात का एक अच्‍छा उदाहरण कि किसी महत्‍वपूर्ण विषय पर तार्किक रूप से किस तरह चर्चा की जा सकती है, विश्‍लेषण किया जा सकता है।

हो सकता है,वीडियो की दृश्‍य गुणवत्‍ता अच्‍छी न हो पर इसे सुना भी जा सकता है।

18489 registered users
7233 resources