कक्षा संसाधन

कोरोना वायरस का फैलता संक्रमण तरह-तरह की आंशकाओं को जन्म दे रहा है। इसे लेकर अवैज्ञानिक सूचनाएँ/अफवाहें भी फ़ैलाई जा रही हैं। ऐसे में बच्चों और बड़ों दोनों को कोरोना वायरस और इससे फैलने वाली बीमारी के बारे में सही-सही जानकारी उपलब्ध कराने की जरूरत है। इस जरूरत को देखते हुए

चूँकि कोरोनो वायरस बीमारी 2019 (COVID-19) के बारे में चर्चा हो रही है। बच्‍चे भी इस बात को लेकर चिंतित हैं कि वे स्‍वयं, उनका परिवार, उनके दोस्‍त इससे बीमार न हो जाएँ। माता-पिता, परिवार के सदस्य, स्कूल के कर्मचारी और अन्य भरोसेमंद वयस्क बच्चों की मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। क्‍योंकि बच्‍चे ऐसा समझते हैं कि उक्‍त सब लोग ईमानदार, सही बात करने वाले हैं और वे उनकी चिंता या भय को कम करते हैं। CDC

मैं आपको विज्ञान का दर्शन नहीं बताने जा रहा, मैं तो आपको अपने कक्षा अनुभव से रूबरू करवा रहा हूँ। दरअसल मैंने फेसबुक के Teacher Info Point पेज पर ममता अंकित का एक वीडियो देखा जिसमें वे अपने विद्यार्थियों को प्रकाश को सीधी रेखा में चलना दिखा रही थीं। मैं भी इस टॉपिक पर कई बार कुछ गतिविधियाँ करवा चुका था। ये वीडियो मुझे बहुत पसन्द आया और कक्षा में प्रयोग करने लायक भी लगा। तो जैसे ही अवसर मिला मैंने कक्षा 6, 7 व 8 के बच्चों को कंप्यूटर कक्ष में बिठाकर उनके समक्ष ये प्रयोग करने का निर्णय लिया।

रमाकान्त अग्निहोत्री

भारत के संविधान की उद्देशिका को मालवी लोक शैली के भजन के रूप में इस वीडियो में प्रस्‍तुत किया गया है। रोचक है। कक्षा में भी इसका उपयोग किया जा सकता है।

रमाकान्त अग्निहोत्री

रमाकान्त अग्निहोत्री

Ncert तथा सभी बोर्ड में कक्षा 10 में बच्चों को दिष्ट धारा मोटर तथा दिष्ट धारा जनित्र पढाया जाता है|बच्चों को उनके चित्र बनाने में बेहद कठिनाई का अनुभव होता है|वे उनके चित्रों में अंतर नहीं कर पाते|प्रस्तुत वीडियो में एनीमेशन के द्वारा न सिर्फ दिष्ट धारा जनित्र को बनाना बताया गया है बल्कि दिष्ट धारा मोटर बनाते समय उसमे कितना बदलाव करना है,यह भी बताया गया है|

गाँधी जी पर एक महत्‍वपूर्ण फिल्‍म ।

सत्रह हजार सत्रह सौ सत्रह को अंकों में कैसे लिख‍ेंगे ? पहले लिखकर देखिए। फिर निदेश सोनी के इस वीडियो में इस पहेली का हल भी मिलेगा। सामान्‍य सी लगने वाली यह पहेली, अपने में गहरी बात छिपाए हुए है।

पृष्ठ

18075 registered users
6933 resources