साजिदा अली

विगत दो वर्षो की लगन, मेहनत, सीखने के प्रतिफलों के आधार पर इनका यही कहना है कि हमारे शिक्षा तंत्र में अगर शिक्षक /शिक्षिका शुरुआत कर दें तो असम्भव कुछ भी नहीं है आइडिया तो अपने आप आते रहते हैं।

हिन्दी
19169 registered users
7451 resources