लक्ष्‍मी

'मैं शिक्षिका हूँ । लेकिन एक महिला होने के नाते परिवार की सम्‍पूर्ण जिम्‍मेदारी भी होती है। घर को भी सुव्‍यवस्थित तरीके से चलाना होता है। बच्‍चों की देखभाल व परवरिश भी करनी होती है। साथी शिक्षक सोचते थे कि यह स्‍कूल तथा परिवार दोनों की जिम्‍मेदारी कैसे उठा पाएगी ? इसका तो पूरा ध्‍यान परिवार में ही लगा रहेगा। दूसरी बात कि यह महिला है तो मीटिंग या ट्रेनिंग में कैसे जाएगी? देर-सवेर अकेले आने-जाने में परेशानी होगी, तो सारी स्‍कूल की व्‍यवस्‍था कैसे सम्‍भालेगी?' यह कहना था मेरे साथियों का लेकिन जो मैंने किया वह आपके सामने है।

हिन्दी
19188 registered users
7451 resources