मालपुरा

इस बार ग्रीष्मकालीन शिक्षक प्रशिक्षण में भाग लेने गया तब मेरी मुलाक़ात एक बहुत जुझारू शिक्षक बिरमपुरी जी से हुई। प्रशिक्षण में उनकी सहभागिता और उनके स्कूल में किए गए कामों के उदाहरण किसी को भी प्रेरित कर सकते थे। मैं भी बहुत प्रभावित हुआ और उनके उदाहरण को लेते हुए मैंने दो पेज लिखे और उनके सामने रखे कि अगर इसमें कोई त्रुटि हो तो आप सही करके कल दे दीजिएगा। अगले दिन वह मुझे छह पेज देते हैं जो उन्होंने ख़ुद लिखे थे अपने साथी शिक्षकों की मदद से, अपने स्कूल में जो जो काम अभी तक किया है उसके बारे में।

हिन्दी
19188 registered users
7451 resources