बसेड़ा

ये चिट्ठी आपको उनसे बचकर रहने की सलाह के लिए लिखी जा रही है। हम नहीं चाहते हैं कि आप भी उनके चंगुल में फँसो। पहले हम आराम से थे जब वे नहीं थे। उनके आने से काम बढ़ गया है। सुबह स्कूल खोलते ही आईना बाहर रखो, उसमें अपनी शक्ल देखो, बाल सँवारो, कक्षा और उसके बाहर का आँगन साफ रखो, खुद के कमरे की लाइट और पंखें उपयोग नहीं हो तो बन्‍द करो। डस्टबिन खाली करो, रोज का कचरा रोज जलाओ। असल में उनके आने से टेंशन और मगजमारी ज़्यादा बढ़ गई है। हम सीबीआई जाँच कराना चाहते हैं कि क्या बीते महीने राज्यभर में लगे सभी हिन्‍दी वाले नए माड़साब इसी टाइप के हैं या हमारी ही किस्मत खराब थी।

हिन्दी
18927 registered users
7393 resources