शैक्षिक दख़ल जुलाई 2019

Description: 
शैक्षिक दख़ल जुलाई 2019 अंक में डिब्‍बाबंद भोजन नहीं, बल्कि किचन है पाठ्यपुस्‍तक * महेश पुनेठा । फेसबुक परिचर्चा * क्‍या पाठ्यपुस्‍तक तथ्‍यों तथा सूचनाओं से भरी होनी चाहिए ?। संवाद * पाठ्यक्रम के अलावा पुस्‍तकें पढ़ना जरूरी । कहानी : सीलू मवासी का सपना * दिनेश भट्ट । इतिहास शिक्षण यानी ऐतिहासिक नजरिया विकसित करना * सी.एन.सुब्रह्मणयम । इतिहास : मनुष्‍य जाति की प्रयोगशाला * नंदकिशोर आचार्य । पाठ और पुस्‍तकें * कृष्‍ण कुमार । पाठ्यपुस्‍तक की प्रासंगिकता * डाँ. इसपाक अली । मात्र पाठ्यपुस्‍तक पर सवार होकर पढ़ना-लिखना संभव नहीं * कालू राम शर्मा । पाठ्यपुस्‍तकों की भाषा और ग्राह्यता * सविता प्रथमेश । बच्‍चों के करने के लिए बहुत कुछ * कमलेश जोशी । लघुकथा : सत्‍यमेव जयते * सीमा भाटिया । कक्षा में पाठ्यपुस्‍तक का उपयोग कैसे हो ? : डॉ. केवलानंद काण्‍डपाल । कसौटी पर एनसीईआरटी की विज्ञान पाठ्यपुस्‍तकें * डॉ. निर्मल कुमार न्‍योलिया । पाठ्यपुस्‍तक की समस्‍याओं को खोजने की कुंजी * अनुपमा तिवाड़ी । रिमझिम से बरसती हैं बच्‍चों की आवाजें * मनोहर चमोली ‘मनु’ । एक पाठ्यपुस्‍तक जिससे दिल लग जाए * प्रतिभा कटियार । शिक्षक की भूमिका तथा पाठ्यपुस्‍तकें * डॉ. दिनेश जोशी । सर्वे : आपको कौन सी पाठ्यपुस्‍तक पसंद है ?। कैसा हो, अगर पाठ्यपुस्‍तकें ही न हों ? * दिनेश कर्नाटक

 अंक देखने के लिए  इस लिंक पर जाएँ  शैक्षिक दख़ल जुलाई 2019

19210 registered users
7451 resources